Pilibhit Information: सामूहिक दुष्कर्म के बाद जलाई गई युवती की मौत, लखनऊ में इलाज के दौरान तोड़ा दम

ख़बर सुनें

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में सामूहिक दुष्कर्म के बाद जलाई गई किशोरी की इलाज के दौरान लखनऊ में मौत हो गई है। किशोरी की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया है। लखनऊ पुलिस किशोरी का पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंपेगी।

जानकारी के अनुसार, पीलीभीत के माधोटांडा इलाके के एक गांव में किशोरी के संग सात सितंबर को किशोरी से दुष्कर्म किया गया, एक आरोपी ने किशोरी पर डीजल छिड़ककर आग लगा दी गई थी। जिला अस्पताल से 10 सितंबर को पीड़िता को लखनऊ के केजीएमयू अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान किशोरी की रविवार रात 3:00 बजे मौत हो गई। 

बता दें कि परिवार की गैरमौजूदगी में सात सितंबर को दो युवकों ने 16 वर्षीय किशोरी के साथ इस घटना अंजाम दिया था। गंभीर रूप से झुलसने से किशोरी बेहोश हो गई थी। हालांकि होश आने पर पूरी घटना बताई। पीड़ित किशोरी ने बताया कि सात सितंबर को पिता खेत पर थे, जबकि मां पहले से मायके गई हुई थीं। 

घर पर वह अकेली थी। दोपहर करीब 12 बजे गांव के दो युवक घर में घुस आए। दोनों ने उससे दुष्कर्म की कोशिश की। जब विरोध किया तो घर में रखी केन का सारा डीजल उसके ऊपर उड़ेल कर आग लगा दी। फिर दोनों आरोपी भाग गए। वह चीखती रही, मगर कोई मदद को नहीं आया।

गंभीर रूप से झुलसने के कारण वह बेहोश हो गई। परिवार के लोग घर लौटे तो उसे जिला अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया। होश में आने पर उसने परिवार वालों को पूरी घटना बताई। परिवार वालों के अनुसार किशोरी करीब 80 फीसदी झुलस गई थी। 

विस्तार

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत जिले में सामूहिक दुष्कर्म के बाद जलाई गई किशोरी की इलाज के दौरान लखनऊ में मौत हो गई है। किशोरी की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया है। लखनऊ पुलिस किशोरी का पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंपेगी।

जानकारी के अनुसार, पीलीभीत के माधोटांडा इलाके के एक गांव में किशोरी के संग सात सितंबर को किशोरी से दुष्कर्म किया गया, एक आरोपी ने किशोरी पर डीजल छिड़ककर आग लगा दी गई थी। जिला अस्पताल से 10 सितंबर को पीड़िता को लखनऊ के केजीएमयू अस्पताल में भर्ती कराया गया था। इलाज के दौरान किशोरी की रविवार रात 3:00 बजे मौत हो गई। 

बता दें कि परिवार की गैरमौजूदगी में सात सितंबर को दो युवकों ने 16 वर्षीय किशोरी के साथ इस घटना अंजाम दिया था। गंभीर रूप से झुलसने से किशोरी बेहोश हो गई थी। हालांकि होश आने पर पूरी घटना बताई। पीड़ित किशोरी ने बताया कि सात सितंबर को पिता खेत पर थे, जबकि मां पहले से मायके गई हुई थीं। 

घर पर वह अकेली थी। दोपहर करीब 12 बजे गांव के दो युवक घर में घुस आए। दोनों ने उससे दुष्कर्म की कोशिश की। जब विरोध किया तो घर में रखी केन का सारा डीजल उसके ऊपर उड़ेल कर आग लगा दी। फिर दोनों आरोपी भाग गए। वह चीखती रही, मगर कोई मदद को नहीं आया।

गंभीर रूप से झुलसने के कारण वह बेहोश हो गई। परिवार के लोग घर लौटे तो उसे जिला अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया। होश में आने पर उसने परिवार वालों को पूरी घटना बताई। परिवार वालों के अनुसार किशोरी करीब 80 फीसदी झुलस गई थी। 

Supply hyperlink

Leave a Comment