Delhi Information : पूर्वी दिल्ली में बारिश से दो मंजिला इमारत की छत गिरी, दबकर दो की मौत

ख़बर सुनें

उत्तर-पूर्वी जिले के जौहरीपुर एक्सटेंशन में शुक्रवार सुबह से हो रही बारिश के बीच एक दो मंजिला इमारत की छत गिर गई। मलबे में दबकर दो लोगों की मौत हो गई, जबकि दो महिलाओं समेत आठ लोग घायल हो गए। घायलों में 3 की हालत नाजुक बताई जा रही है। मृतकों की शिनाख्त लोनी निवासी हर्षित और मुकेश के रूप में हुई है।  गोकुलपुरी थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है।

छत गिरते ही इलाके में अफरातफरी मच गई। मौके पर पहुंचे लोगों ने दो लोगों को तुरंत मलबे से बाहर निकाल लिया और घटना की जानकारी पुलिस और दमकल विभाग को दी। मौके पर पहुंची पुलिस और दमकल कर्मियों ने मलबे से दो महिलाओं समेत छह और लोगों को बाहर निकालकर जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया। देर शाम करीब आठ बजे मलबे में दो लोगों को निकालकर अस्पताल ले जाया गया, जहां दोनों को मृत घोषित कर दिया गया।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि दो मंजिला इमारत में कारखाना चल रहा था। इसमें नक्शा बनाने का काम होता था। कारखाने को दो सगे भाई गंगा विहार निवासी संजय शर्मा और मनोज शर्मा चला रहे हैं। इन दोनों के अलावा यहां पर जौहरीपुर निवासी सीमा, गंगा विहार निवासी वर्षा, गंगा विहार निवासी आनंद ठाकुर, सोनिया विहार निवासी चंद्रपाल, लोनी निवासी सूरज और किशनपाल काम कर रहे थे। इन सभी को मलबे से निकाल लिया गया है। निगम की टीम मलबा हटाने में जुटी है।

दमकल विभाग के निदेशक अतुल गर्ग ने बताया कि शुक्रवार सुबह 12:02 बजे जौहरीपुर एक्सटेंशन में इमारत मिलने की जानकारी मिली। सूचना के बाद चार गाड़ियां मौके पर पहुंची और मलबे में दबे छह लोगों को बाहर निकाला। इससे पहले स्थानीय लोग दो लोगों को निकाल चुके थे। छानबीन में पता चला कि यहां 40-40 गज के दो इमारत हैं। जिस इमारत में काम हो रहा था, वह दो मंजिल का था, जबकि दूसरी इमारत पहली मंजिल तक है। पहली मंजिल वाली इमारत में मरम्मत का काम चल रहा था। दोनों इमारत 20 साल पुराना है। जिस इमारत में हादसा हुआ है, उसकी पहली मंजिल पर काफी मात्रा में सामान रखा हुआ था। आशंका जताई जा रही है कि अधिक भार की वजह से हादसा हुआ है। 

सीबीएसई हेडक्वार्टर के निर्माणाधीन इमारत    का मचान गिरा, पांच लोग घायल 
द्वारका सेक्टर-23 थाना इलाके में शुक्रवार दोपहर में सीबीएसई हेडक्वार्टर के निर्माणाधीन इमारत में मचान गिरने से पांच मजदूर घायल हो गए। सभी को के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सभी खतरे से बाहर हैं। मजदूरों ने काम करने के लिए मचान बनाया था। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि घायलों की पहचान सोमेश, मंगलू, नारंग, बुद्धिलाल व देवाशीष सिंह के रूप में हुई है। शुक्रवार दोपहर 2.41 बजे दक्षिण-पश्चिमी जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण टीम से घटना की जानकारी मिली थी जिसके बाद डीडीएमए की टीम, पुलिस दो दमकल की गाड़ी, अग्निशमन दस्ता, चार कैट्स एंबुलेंस की टीम पहुंच गई।

विस्तार

उत्तर-पूर्वी जिले के जौहरीपुर एक्सटेंशन में शुक्रवार सुबह से हो रही बारिश के बीच एक दो मंजिला इमारत की छत गिर गई। मलबे में दबकर दो लोगों की मौत हो गई, जबकि दो महिलाओं समेत आठ लोग घायल हो गए। घायलों में 3 की हालत नाजुक बताई जा रही है। मृतकों की शिनाख्त लोनी निवासी हर्षित और मुकेश के रूप में हुई है।  गोकुलपुरी थाना पुलिस मामले की जांच कर रही है।

छत गिरते ही इलाके में अफरातफरी मच गई। मौके पर पहुंचे लोगों ने दो लोगों को तुरंत मलबे से बाहर निकाल लिया और घटना की जानकारी पुलिस और दमकल विभाग को दी। मौके पर पहुंची पुलिस और दमकल कर्मियों ने मलबे से दो महिलाओं समेत छह और लोगों को बाहर निकालकर जीटीबी अस्पताल में भर्ती कराया। देर शाम करीब आठ बजे मलबे में दो लोगों को निकालकर अस्पताल ले जाया गया, जहां दोनों को मृत घोषित कर दिया गया।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि दो मंजिला इमारत में कारखाना चल रहा था। इसमें नक्शा बनाने का काम होता था। कारखाने को दो सगे भाई गंगा विहार निवासी संजय शर्मा और मनोज शर्मा चला रहे हैं। इन दोनों के अलावा यहां पर जौहरीपुर निवासी सीमा, गंगा विहार निवासी वर्षा, गंगा विहार निवासी आनंद ठाकुर, सोनिया विहार निवासी चंद्रपाल, लोनी निवासी सूरज और किशनपाल काम कर रहे थे। इन सभी को मलबे से निकाल लिया गया है। निगम की टीम मलबा हटाने में जुटी है।

दमकल विभाग के निदेशक अतुल गर्ग ने बताया कि शुक्रवार सुबह 12:02 बजे जौहरीपुर एक्सटेंशन में इमारत मिलने की जानकारी मिली। सूचना के बाद चार गाड़ियां मौके पर पहुंची और मलबे में दबे छह लोगों को बाहर निकाला। इससे पहले स्थानीय लोग दो लोगों को निकाल चुके थे। छानबीन में पता चला कि यहां 40-40 गज के दो इमारत हैं। जिस इमारत में काम हो रहा था, वह दो मंजिल का था, जबकि दूसरी इमारत पहली मंजिल तक है। पहली मंजिल वाली इमारत में मरम्मत का काम चल रहा था। दोनों इमारत 20 साल पुराना है। जिस इमारत में हादसा हुआ है, उसकी पहली मंजिल पर काफी मात्रा में सामान रखा हुआ था। आशंका जताई जा रही है कि अधिक भार की वजह से हादसा हुआ है। 

सीबीएसई हेडक्वार्टर के निर्माणाधीन इमारत    का मचान गिरा, पांच लोग घायल 

द्वारका सेक्टर-23 थाना इलाके में शुक्रवार दोपहर में सीबीएसई हेडक्वार्टर के निर्माणाधीन इमारत में मचान गिरने से पांच मजदूर घायल हो गए। सभी को के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। सभी खतरे से बाहर हैं। मजदूरों ने काम करने के लिए मचान बनाया था। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि घायलों की पहचान सोमेश, मंगलू, नारंग, बुद्धिलाल व देवाशीष सिंह के रूप में हुई है। शुक्रवार दोपहर 2.41 बजे दक्षिण-पश्चिमी जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण टीम से घटना की जानकारी मिली थी जिसके बाद डीडीएमए की टीम, पुलिस दो दमकल की गाड़ी, अग्निशमन दस्ता, चार कैट्स एंबुलेंस की टीम पहुंच गई।

Supply hyperlink

Leave a Comment