Constructing Materials Charges: महंगाई में सस्ती हुई सरिया,पूरा करें अपने ड्रीम होम का सपना

Gorakhpur

oi-Punitkumar Srivastava

|

Google Oneindia News

गोरखपुर,19सितंबर:
अगर आप घर बनाने का सपना संजोएं हैं तो यह आप के लिए अच्छी खबर है।अब आप अपने ड्रीम होम का सपना आसानी से पूरा कर सकते हैं।सरिया सहित कई भवन निर्माण सामग्रियों की कीमत में गिरावट आने से भवन निर्माण कार्य में आसानी होगी। सरकार ने स्टील पर एक्सपोर्ट ड्यूटी हाल ही में बढ़ा दी थी। इसकी वजह से घरेलू बाजार में स्टील के दाम तेजी से गिरे हैं। सरिये के दाम में आई कमी की मुख्य वजह भी यही है। इसके अलावा देश के कई।कई हिस्सों में हो रही भारी बारिश के चलते निर्माण गतिविधियों में कमी आई है, जिसका असर डिमांड पर हुआ है ।इन दिनों बिल्डिंग मटेरियल के रेट काफी कम हैं। सबसे ज्यादा कीमतें सरिया की कम हुई हैं। जानते है भवन निर्माण सामग्रियों की आज की कीमत।

building material

ये है नई कीमत
सरकार ने स्टील पर एक्सपोर्ट ड्यूटी हाल ही में बढ़ा दी थी। इसकी वजह से घरेलू बाजार में स्टील के दाम तेजी से गिरे हैं।सरिये के दाम में आई कमी की मुख्य वजह भी यही है। इसके अलावा देश के कई।कई हिस्सों में हो रही भारी बारिश के चलते निर्माण गतिविधियों में कमी आई है, जिसका असर डिमांड पर हुआ है। मानसून आने के बाद से देश के विभिन्न हिस्सों में लगातार बारिश हो रही है।इसका सीधा असर निर्माण गतिविधियों पर हुआ है। बारिश और बाढ़ जैसे हालात के चलते निर्माण गतिविधियों के कम होने से सीमेंट, सरिया जैसी सामग्रियों के भाव भी कम हुए हैं।सरिये की बात करें तो इसे सरकारी दखल से भी फायदा हुआ है।ये तमाम फैक्टर्स सरिया को फिर से सस्ता बना रहे हैं।पिछले 02 महीने के दौरान इसके भाव में करीब 7000 रुपये तक की गिरावट आई है।अभी गोरखपुर में सरिये का भाव कम होकर 55 हजार रुपये प्रति टन तक आ गया है।

सरकार ने स्टील पर एक्सपोर्ट ड्यूटी हाल ही में बढ़ा दी थी। इसकी वजह से घरेलू बाजार में स्टील के दाम तेजी से तेजी से गिरे हैं। सरिये के दाम में आई कमी की मुख्य वजह भी यही है।
आंकड़ों को देखें तो टीएटी सरिया का खुदरा भाव अप्रैल की शुरुआत में 75,000 रुपये प्रति टन के आसपास था, ् जो 15 जून को गिरकर करीब 65 हजार प्रति टन पर आ गया था। खुदरा बाजार के हिसाब से देखें तो अप्रैल में एक समय सरिये का भाव 82,000 रुपये प्रति टन पहुंच गया था, जो अभी कम होकर 50 से 55 हजार रुपये प्रति टन रह गया है। इसका मतलब हुआ कि अप्रैल के रिकॉर्ड हाई की तुलना में सरिये का भाव अभीकरीब 30 हजार रुपये प्रति टन कम है।

Gorakhpur: पुलिस व पशु तस्करों में हुई मुठभेड़,एक घायलGorakhpur: पुलिस व पशु तस्करों में हुई मुठभेड़,एक घायल

वहीं मोरंग के दाम में भी गिरावट दर्ज की गयी है। सफेद बालू के दाम में गिरावट से घर बनवाना भी सस्ता हो गया। मोरंग के दाम 9000 से 9500 प्रति सौ फीट होते हैं।पर इस बार रेट में गिरावट आई है और यह 8500 से 9000 प्रति सौ फीट बिक रहा है। ईट की बात करें जो पहले 9000 से 10000 रुपये प्रति हजार बिक रहा था वह इस समय 7000 से 8000 रुपये प्रति हजार बिक रहा है। सफेद बालू के रेट में भी गिरावट आई है। इस समय यह 2100 रुपये प्रति सौ फीट बिक रहा है।जिसमें लगभग 300 से 400 रुपये प्रति सौ फीट की कमी आई है। सीमेंट 400-500 रुपये प्रति बोरी बिक रहा है।बीते साल में मोरंग काफी महंगा बिका था।

English abstract

Constructing Materials and Home Building Price price at present gorakhpur

Story first printed: Monday, September 19, 2022, 6:30 [IST]

Supply hyperlink

Leave a Comment