वैज्ञानिकों को मिला दुनिया का सबसे पुराना दिल, जानें 380 मिलियन साल से कहां और कैसे संरक्षित रहा

जानें
कहां
और
कैसे
छिपा
हुआ
संरक्षित
रहा

पैलियोन्टोलॉजिस्ट्स
ने
380
मिलियन
साल
पुराना
दिल
ऑस्ट्रेलिया
में
एक
जीवाश्म
प्रागैतिहासिक
जबड़े
वाली
मछली
fossilised
prehistoric
jawed
fish)
में
संरक्षित
मिला
है।

आस्‍ट्रेलिया के पर्थ स्थित कर्टिन विवि ने की है ये खोज

आस्‍ट्रेलिया
के
पर्थ
स्थित
कर्टिन
विवि
ने
की
है
ये
खोज

आस्‍ट्रेलिया
के
पर्थ
स्थित
कर्टिन
विश्वविद्यालय
के
रिसचर्स
की
एक
टीम
ने
गोगो
फॉर्मेशन
में
किम्बर्ले
में
प्राचीन
जीवाश्म
पाया।
जो
विकास
की
हमारी
समझ
के
लिए
असाधारण
संरक्षण
पर
काम
करती
है।


फोटो
क्रेडिट-
Curtin
College

संरक्षित दिल को पाकर वास्‍तव में अचंभित हूं

संरक्षित
दिल
को
पाकर
वास्‍तव
में
अचंभित
हूं

प्रमुख
रिसर्चर
प्रोफेसर
केट
ट्रिनाजस्टिक
ने
कहा
मैंने
जीवाश्म
विज्ञानी
के
रूप
में
20
से
अधिक
वर्षों
से
जीवाश्मों
का
अध्ययन
किया
है,
मैं
वास्तव
में
380
मिलियन
वर्ष
पुरानी
इस
मछली
में
एक
3D
और
खूबसूरती
से
संरक्षित
दिल
को
पाकर
वास्‍तव
में
अचंभित
हूं।

63 साल का यह व्यक्ति कर चुका है 53 बार शादी, वजह सुनकर आप भी माथा पकड़ लेंगे63
साल
का
यह
व्यक्ति
कर
चुका
है
53
बार
शादी,
वजह
सुनकर
आप
भी
माथा
पकड़
लेंगे

इन मछलियों का एक वर्ग जो अचानक विलुप्त हो चुका है

इन
मछलियों
का
एक
वर्ग
जो
अचानक
विलुप्त
हो
चुका
है

शोध
में
पाया
गया
कि
आर्थ्रोडायर्स
के
शरीर
में
अंगों
की
स्थिति
बिलकुल
बख्तरबंद
मछलियों
का
एक
वर्ग
जो
अचानक
विलुप्त
होने
से
पहले
डेवोनियन
काल
में
लगभग
50
मिलियन
वर्षों
तक
फला-फूला
वो
आधुनिक
शार्क
शरीर
की
रचना
जैसी
है
और
ये
विकासवादी
जीव
विज्ञान
में
महत्वपूर्ण
प्रभाव
डालता
है।

इन
मछलियों
का
मुंह
शार्क
मछलियों
के
जैसा
होता
था

प्रोफेसर
ट्रिनाजस्टिक
ने
समझाया
“डेवलेंप
को
अक्सर
छोटे
कदमों
की
एक
सीरीज
के
रूप
में
माना
जाता
है,
लेकिन
इन
प्राचीन
जीवाश्मों
से
पता
चलता
है
कि
जबड़े
रहित
और
जबड़े
वाले
कशेरुकियों
के
बीच
एक
बड़ी
छलांग
थी।
इन
मछलियों
का
मुंह
सचमुच
में
बिल्कुल
वर्तमान
समय
की
शार्क
की
तरह
उनके
गलफड़ों
के
नीचे
होता
है

शोधकर्ताओं
ने
पेट,
आंत
और
यकृत
सहित
चूना
पत्थर
की
चट्टान
में
कनवर्ट
हो
चुके
नमूनों
के
एक्स-रे
स्कैन
के
माध्यम
से
नरम
ऊतकों
की
थ्री
डी
फोटोज
बनाने
में
भी
सफलता
हासिल
की।

नई खोज वास्तव में जीवाश्म विज्ञानियों के सपनों जैसी चीज

नई
खोज
वास्तव
में
जीवाश्म
विज्ञानियों
के
सपनों
जैसी
चीज

इस
शो
के
को-राइटर
जॉन
लॉन्ग
ने
कहा

इन
प्राचीन
मछलियों
में
कोमल
अंगों
की
ये
नई
खोज
वास्तव
में
जीवाश्म
विज्ञानियों
के
सपनों
की
चीजें
हैं,
निस्संदेह
ये
जीवाश्म
इस
युग
के
लिए
दुनिया
में
सबसे
अच्छे
से
संरक्षित
चीजों
में
एक
हैं।
ये
दूर
के
विकास
में
बड़ी
बातों
को
समझने
के
लिए
गोगो
जीवाश्मों
के
मूल्य
को
दिखाते
हैं।
गोगो
वो
है
जो
हमें
दुनिया
में
सबसे
पहले
सेक्स
की
उत्पत्ति
से
लेकर
सबसे
पुराने
कशेरुकी
हृदय
तक
हमें
दिया
है,
और
अब
यह
दुनिया
के
सबसे
महत्वपूर्ण
जीवाश्म
स्थलों
में
से
एक
है।

Supply hyperlink

Leave a Comment