लखीमपुर खीरी में छेड़छाड़ का विरोध करने वाली लड़की की मौत, पुलिस ने शव नहीं दिया घरवालों को

लखनऊ, सितंबर 18। उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी से एक और दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है। दरअसल, अभी दो नाबालिग बहनों का रेप और फिर उनकी हत्या का मामला थमा भी नहीं था कि एक और घटना ने लखीमपुर खीरी को शर्मसार कर दिया है।

छेड़छाड़ का विरोध करने पर कर दिया हमला

जानकारी के मुताबिक, छेड़छाड़ का विरोध कर रही एक युवती को दूसरे समुदाय के लोगों ने पहले तो बुरी तरह से पीटा, जहां शुक्रवार को उसकी मौत हो गई। शनिवार को पुलिस ने शव का पोस्टमॉर्ट कराने के बाद खुद ही उस लड़की का अंतिम संस्कार कर दिया।

आज तक की खबर के मुताबिक, लखीमपुर खीरी पुलिस ने जिले में किसी भी तरह के सांप्रदायिक तनाव को रोकने के लिए शव को जल्दबाजी में जेसीबी की मशीन से खुदाई करवाकर शप को दफना दिया। इस मामले में लड़की के परिजनों ने अपनी शिकायत में बताया है कि उसकी बेटी 12 सितंबर को घर से बाहर निकली थी, जिसके बाद वो वापस ही नहीं आई।

इस घटना में इलाके के ही रहने वाले करीमुद्दीन और यूसुफ पठान का घर शामिल है। लड़की के शादी करने से इनकार की चलते ही आरोपियों ने उस पर हमला कर दिया।

Supply hyperlink

Leave a Comment