ये हैं वो 5 चर्चित स्लोगन, जिन्होंने नरेंद्र मोदी की छवि को गढ़ा

  • Picture Supply : pti

    PM Modi Birthday: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का आज की 17 सितंबर से एक खास नाता है। दरअसल साल 1950 में 17 सितंबर के दिन ही नरेन्द्र दामोदर मोदी का जन्म हुआ, जिन्हें 26 मई 2014 को भारत के तत्कालीन राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने देश के 15वें प्रधानमंत्री के रूप में शपथ दिलायी। 5 साल बाद 2019 बीजेपी ने नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में एक बार फिर चुनाव जीता और उन्होंने प्रधानमंत्री के रूप में अपने दूसरे कार्यकाल की शुरुआत की। यहां यह जानना दिलचस्प होगा कि 2014 के बाद से ही नरेंद्र मोदी ने कई नारों का प्रयोग किया। आज यहां पर उनके ही कुछ मशहूर नारों के बारे में आपको बताएंगे।

  • अच्छे दिन आने वाले हैं- साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने तत्कालीन यूपीए2 सरकार के भ्रष्टाचार, महंगाई और नाकामियों को जनता तक बखूबी पहुंचाया और जनता से चुनाव के बाद भ्रष्टाचार और महंगाई से मुक्ति दिलाने का वादा करते हुए अच्छे दिन आने वाले हैं का नारा दिया। पीएम मोदी द्वारा दिए गए इस नारे का जनता पर खासा प्रभाव पड़ा और बीजेपी प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आई।

    Picture Supply : india television

    अच्छे दिन आने वाले हैं- साल 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने तत्कालीन यूपीए2 सरकार के भ्रष्टाचार, महंगाई और नाकामियों को जनता तक बखूबी पहुंचाया और जनता से चुनाव के बाद भ्रष्टाचार और महंगाई से मुक्ति दिलाने का वादा करते हुए अच्छे दिन आने वाले हैं का नारा दिया। पीएम मोदी द्वारा दिए गए इस नारे का जनता पर खासा प्रभाव पड़ा और बीजेपी प्रचंड बहुमत के साथ सत्ता में आई।

  • हर-हर मोदी, घर-घर मोदी : साल 2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी वाराणसी से चुनावी मैदान में उतरे थे। तब चुनाव प्रचार में उनके समर्थन में हरहर मोदी, घरघर मोदी के नारे लगे। इसके बाद से यह नारा घर-घर में लोकप्रिय हो गया।

    Picture Supply : india television

    हर-हर मोदी, घर-घर मोदी : साल 2014 के लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी वाराणसी से चुनावी मैदान में उतरे थे। तब चुनाव प्रचार में उनके समर्थन में हरहर मोदी, घरघर मोदी के नारे लगे। इसके बाद से यह नारा घर-घर में लोकप्रिय हो गया।

  • मैं भी चौकीदार हूं- पीएम मोदी ने 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले कहा कि वह देश के चौकीदार हैं और किसी को देश के संसाधनों की चोरी नहीं करने देंगे तब उनके समर्थकों ने इसे नारा बना दिया। बीजेपी ने चुनाव प्रचार के दौरान 'मैं भी चौकीदार' का कैंपेन चलाया जो काफी हिट रहा। नेताओं से लेकर आम जनता तक ने कई दिनों तक अपनी ट्विटर डीपी भी 'मैं भी चौकीदार' करके लगाई थी।

    Picture Supply : india television

    मैं भी चौकीदार हूं- पीएम मोदी ने 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले कहा कि वह देश के चौकीदार हैं और किसी को देश के संसाधनों की चोरी नहीं करने देंगे तब उनके समर्थकों ने इसे नारा बना दिया। बीजेपी ने चुनाव प्रचार के दौरान ‘मैं भी चौकीदार’ का कैंपेन चलाया जो काफी हिट रहा। नेताओं से लेकर आम जनता तक ने कई दिनों तक अपनी ट्विटर डीपी भी ‘मैं भी चौकीदार’ करके लगाई थी।

  • मेक इन इंडिया, मेड फॉर द वर्ल्ड- पीएम मोदी ने दुनियाभर की कंपनियों को भारत आने का न्यौता दिया था और कहा था कि वे यहां आकर अपने उत्पाद बनाकर दुनिया के बाजार में बेचें। केंद्र सरकार ने इसके लिए एक खास रणनीति तैयार की और मेक इन इंडिया, मेड फॉर द वर्ल्ड का नारा दिया।

    Picture Supply : india television

    मेक इन इंडिया, मेड फॉर द वर्ल्ड- पीएम मोदी ने दुनियाभर की कंपनियों को भारत आने का न्यौता दिया था और कहा था कि वे यहां आकर अपने उत्पाद बनाकर दुनिया के बाजार में बेचें। केंद्र सरकार ने इसके लिए एक खास रणनीति तैयार की और मेक इन इंडिया, मेड फॉर द वर्ल्ड का नारा दिया।

  • दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी- कोरोनावायरस की पहली लहर के बाद जब लॉकडाउन में छूट मिली तो लोगों को देखा कि वो मास्क नहीं लगा रहे। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी नहीं हो रहा। उसके बाद पीएम मोदी ने ये नारा दिया था। उन्होंने कहा था कि दो गज की दूरी और मास्क ये दोनों बहुत जरूरी हैं।

    Picture Supply : india television

    दो गज की दूरी, मास्क है जरूरी- कोरोनावायरस की पहली लहर के बाद जब लॉकडाउन में छूट मिली तो लोगों को देखा कि वो मास्क नहीं लगा रहे। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी नहीं हो रहा। उसके बाद पीएम मोदी ने ये नारा दिया था। उन्होंने कहा था कि दो गज की दूरी और मास्क ये दोनों बहुत जरूरी हैं।



  • Supply hyperlink

    Leave a Comment