टीवी इंडस्ट्री की फेमस एक्ट्रेस निशी सिंह का निधन, परिवार को इलाज के लिए लेना पड़ा था कर्ज

परिवार में पति और दो बच्चे छोड़ गईं निशी सिंह

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, 17 सितंबर की रात को उनकी तबियत अधिक खराब हुई थी, जिसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन रविवार दोपहर 3 बजे के करीब उन्होंने दम तोड़ दिया। निशी सिंह के परिवार में उनके पति और दो बच्चे हैं, जिसमें एक 21 साल का बेटा है और 18 साल की एक बेटी है।

फरवरी 2019 में आया था पैरालिसिस अटैक

फरवरी 2019 में आया था पैरालिसिस अटैक

आपको बता दें कि निशी सिंह को टीवी इंडस्ट्री में इश्कबाज, कुबूल है और तेनाली राम जैसे सीरियल्स से लोकप्रियता मिली थी। तीन साल पहले फरवरी 2019 में उन्हें पैरालिसिस का अटैक आया था और उसी के बाद से उनकी हालत काफी गिरती चली गई। लंबे समय तक बीमारी से जूझने के बाद आज उनका निधन हो गया। निशी सिंह को एक अभिनेता के साथ-साथ एक लेखक के रूप में पहचाना जाता था।

परिवार की आर्थिक स्थिति नहीं चल रही थी ठीक

परिवार की आर्थिक स्थिति नहीं चल रही थी ठीक

रिपोर्ट्स का दावा है कि पिछले कुछ समय से निशी सिंह की आर्थिक स्थिति भी ठीक नहीं चल रही थी, जिसके बाद उनके पति ने मेडिकल के खर्चे के लिए मदद भी मांगी थी। एक्ट्रेस सुरभि चंदना और इंडस्ट्री के कुछ अन्य लोगों ने उनकी आर्थिक मदद की थी।

दूसरे अटैक के बाद उनकी हालत बिगड़ी- संजय

दूसरे अटैक के बाद उनकी हालत बिगड़ी- संजय

निशी सिंह के निधन के बाद उनके पति ने ई टाइम्स से बात करते हुए बताया है कि उनकी पत्नी को एक साल के अंदर दूसरा अटैक भी आया था, जिसकी वजह से उनकी हालत ज्यादा बिगड़ने लगी थी। संजय सिंह ने कहा है, ‘3 फरवरी को दूसरे स्ट्रोक के बाद वह ठीक हो रही थीं। हालांकि मई 2022 में उन्हें फिर से स्ट्रोक आया और उनकी तबीयत बिगड़ती चली गई। हमने उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया और वह बाद में डिस्चार्ज हो गईं। पिछले कुछ हफ्तों से गले में इंफेक्शन की वजह से उन्हें खाने में दिक्कत हो रही थी, जिस वजह से वो सिर्फ तरल पदार्थ पर जिंदा थीं।”

संजय ने आगे कहा कि हमने उनका 50वां जन्मदिन 16 सितंबर को ही मनाया। वह बात नहीं कर सकती थीं, लेकिन वह बहुत खुश लग रही थीं। मैंने उनसे उनके पसंदीदा बेसन के लड्डू खाने का अनुरोध किया था तो उन्होंने खाया भी था। निशी के लिए हमारी बेटी ने भी अपनी पढ़ाई का काफी नुकसान किया, उसने अपनी परीक्षा छोड़ दी थी, मैं भी काम पर ध्यान नहीं लगा पा रहा था।

Supply hyperlink

Leave a Comment