जयसिंह को बताया बाबर के वंशजों का नौकर, TRS एमएलसी ने विदेश मंत्री से की हस्तक्षेप करने की मांग


हैदराबाद,
17
सितंबर:
टीआरएस
एमएलसी
के
कविता
ने
शुक्रवार
को
विदेश
मंत्री
एस
जयशंकर
को
पत्र
लिखकर
अनुरोध
किया
कि
वह
समरकंद
वेधशाला
संग्रहालय
में
भारतीय
शासक
राजा
सवाई
जय
सिंह
के
विवरण
के
मुद्दे
को
उज्बेकिस्तान
सरकार
के
साथ
उठाएं।

उज्बेकिस्तान
के
फेमस
शहर
समरकंद
की
वेधशाला
के
बाहर
लिखे
गए
शिलालेख
में
जयसिंह
पर
इस
आपत्तिजनक
टिप्पणी
से
लोगों
में
नाराजगी
है।
वेधशाला
के
शिलालेख
में
जयसिंह
को
बाबर
के
वंशज
मुहम्मद
शाह
का
नौकर
लिखा
गया
है।
साथ
ही
इसके
अंदर
साईटेशन
में
भी
ये
बात
लिखी
हुई
है।

सवाई
जयसिंह
एस्ट्रोनॉमर
के
तौर
पर
भी
पहचान
रखते
थे।
इसका
नमूना
है
देश
में
पांच
स्थानों
पर
बनाई
गईं
वेधशालाएं।
सरकारी
वेधशाला
के
बोर्ड
पर
इस
तरह
के
शब्द
लिखने
पर
तेलंगाना
के
मुख्यमंत्री
की
बेटी
और
पूर्व
टीआरएस
सांसद
के
कलवाकुन्तल
कविता
ने
कड़ी
आपत्ति
जताते
हुए
विदेश
मंत्री
काे
विरोध
दर्ज
कराते
हुए
ट्वीट
किया
और
लेटर
भी
लिखा
है।

कलवाकुन्तल
कविता
ने
लिखा
कि,
एक
‘नौकर’
के
रूप
में
हमारे
सम्मानित
ऐतिहासिक
व्यक्ति
को
संबोधित
करना
भारत
की
गरिमा
के
खिलाफ
है।
मैं
प्रधान
मंत्री
और
विदेश
मामलों
के
मंत्री
से
उजबेकिस्तान
में
अपने
समकक्षों
के
साथ
इसे
उठाने
का
आग्रह
करती
हूं।

Supply hyperlink

Leave a Comment